Storage Device Kya Hai? जानिए Secondary Storage Devices In Hindi paisanews

लेख़ इसके बाद शुरु होगा।

आज हम आपको बताएँगे की Secondary Storage Devices In Hindi के बारे में यह एक तरह का device होता जिसमें हम डाटा को स्टोर करते है। अगर आप भी secondary storage device in hindi के बारे में और अधिक  जानकरी प्राप्त करना चाहते है, तो आप पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े। Secondary storage device ke bare mein vistar se samjhaie इस में आप यह जानेगे की storage device किसे कहते है और storage डिवाइस क्यों जरुरी होता है। स्टोरेज डिवाइस वह होता है जिसमे हम अपने डाटा को स्टोर करते है। डाटा storage डिवाइस आज की तारीख में बहुत जरुरी हो गया क्योंकि हम इसके माध्यम से ही डाटा को स्टोर करते है। इस पोस्ट में हम आपको explain secondary storage devices in detail in hindi के बारे में भी जानकारी देंगे।

लेख़ इसके बाद शुरु होगा।

विषयों की सूची

आज आप हमारी what is secondary storage device in hindi पोस्ट के माध्यम से जान पाएंगे कि storage क्या होता है। क्योंकि आज के डिजिटल दौर में इसका उपयोग काफी बढ़ गया है, और बहुत सारे लोग इसके बारे में नही जानते होंगे कि secondary storage device kya hai तो आप इस पोस्ट के माध्यम में आसानी से जान पाएँगे।

Storage device किसी भी computer या electronic डिवाइस में जुड़ा हुआ एक hardware device होता है, जो कि आपके data या information को स्टोर करने का काम करता है। Explain secondary storage device in detail in hindi में आप यह जानेंगें कि डाटा किसे कहते है, जो हमारे computer में फाइल्स होती है जैसे- software program, documents, photograph, video, audio आदि।

Storage Device का Use Data को Digitally Store करके रखने के लिए किया जाता है यह एक Hardware डिवाइस है। जिसमे Data को Permanently और Termporarily Store करके आसानी से रख सकते है। अगर आप इसके बारे में और अधिक जानकारी पाना चाहते है तो हमारी पोस्ट Storage device kya hai को शुरू से अंत तक ज़रूर पढ़े।

Storage Device Kya Hai

Storage Device को हम Digital Storage और Storage Media के नाम से भी जानते है। यह Storage Device स्थायी और अस्थायी रूप से जानकारी को Store करके रखने में सक्षम hardware है।


डाटा को Digitally रूप से स्टोर करके रखते हैं, ये डाटा permanently और temporary रूप से स्टोर करता है। Computer में Data Storage ऐसी जगह होते है जो Data को Electromegnetic और Optical Form में Store करते है। जिससे बाद में जरूरत पड़ने पर Computer Processor Data को बड़ी आसानी से Access कर सके।

Secondary storage device ke bare mein vistar se bataiye इस में Storage Device किसी भी Device के मूल Component में से एक है। यह हार्डवेयर और फर्मवेयर को छोड़कर कंप्यूटर पर लगभग सभी Data और Application को Store करते है।

जरूर पढ़े: USB Kya Hai? USB Ke Prakar Kitne Hote Hai – USB के उपयोग और फायदे जाने विस्तार से!

Primary Storage Device In Hindi

Primary Storage device अस्थायी (temporary) रूप से data रखने के लिये इस्तेमाल किया जाता है। यह size में बहुत ही छोटे होते है। जिस कारण यह कंप्यूटर की internal भाग मे मौजूद होते है। इसमें RAM और Cache Memory शामिल होती है। Primary Storage की Memory को हम Volatile भी कहते है, Primary Storage का मतलब कंप्यूटर की Main Memory से होता। जिसमे कंप्यूटर में Store Data को Fastly Access किया जा सकता है Primary Storage दो तरह की होती है Ram और Rom अगर आप Ram और Rom के बारे में जानना चाहते है तो हमारी Hindi Sahayta की Website से जान सकते है।

Secondary Storage Device In Hindi

Secondary storage device ke bare mein, Secondary storage device के पास ज्यादा से ज्यादा डाटा को store करने की क्षमता होती हैं। और साथ ही यह किसी भी डाटा को स्थायी (permanent) रूप से store करती है। यह स्टोरेज डिवाइस computer के अंदर या बाहर दोनों तरफ मौजूद होते है। यह Computer की Permanent Memory होती है जिसमे Data और Information Permanent Store रहते है। Secondary Storage Device को Auxiliary Storage Device भी कहा जाता है

यह Internal और External रूप से Data को Store करके रखते है जैसे- Hard Disk, Optical Disk Drive और Usb Storage Device आदि। इसमे Data की Storage को घटा-बढ़ा भी सकते है और इन स्टोरेज डिवाइस में Data को Access करने की गति Primary Storage से धीमी होती है। Storage device kya hai in hindi में आप Primary और Secondary storage device के बारे में जान गए होंगे।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: ABS Kya Hai? ABS Kaise Kam Karta Hai? – जानिए ABS के बारे में आसान भाषा में

Types Of Storage Devices

अभी हमने स्टोरेज डिवाइसेज के बारे जाना अगर आप Storage Device के Type के बारे में नही जानते तो कोई बात नही हम आपको इसके बारे में बताएँगे अगर आप इसके बारे में जानना चाहते है तो चलिए जानते है Storage के Types के बारे में:


Hard disk एक non volatile magnetic Storage Device है, जिसका उपयोग कंप्यूटर में डाटा को Store करने लिए किया जाता है। इसका इस्तेमाल कंप्यूटर पर डाटा को permanently रूप से store और retrieve करने और बैकअप को स्टोर करने के लिए किया जाता हैं। इसका Use Software, Operating System और File आदि को Hard Disk में रखने के लिए किया जाता है। आप सभी को मालूम होगा की कंप्यूटर में Hard Drive का Division अलग से दिया होता है और कंप्यूटर के Local Disk C में कंप्यूटर की पूरी Operating System, Software, Drivers आदि की Storage होती है।

Local Disk C को कंप्यूटर का Primary Division भी कहते है आपने देखा होगा की कंप्यूटर में और भी Division या Disk होती है जैसे- Local Disk C, Local Disk D आदि।


इसे Compact Disk भी कहते है इसका Use Data को Optical किरणों यानि लेज़र लाइट के जरिये डालने के लिए किया जाता है आप एक Standard CD में 700 Mb तक का Data Store कर सकते है।

CD में Data को डॉट के फॉर्म में Save किया जाता है। CD Drive में लगा सेंसर CD के डॉट से Reflect लाइट को पढ़ता है और हमारी Device में Image को Create करता है।


इसका पूरा नाम Digital Versatile Disk है Single Side Layer में इसकी Capacity 4.7 Gb है जबकि Single Side Double Layer में इसकी Capacity 8.5 Gb होती है और Double Layer Single Side में इसकी Capacity 9.4 Gb होती है तथा Double Layer Double Side में इसकी Capacity 17.08 Gb होती है इसमे आप CD से ज्यादा Data Save कर सकते है। इस डिस्क का उपयोग store data को बाद में excute या retrieve करने के लिए किया जाता हैं। इस में आप म्यूजिक और ऑडियो फाइल्स भी स्टोर कर सकते है।


यह एक Optical Storage Media है इसका उपयोग हम बढ़िया Quality की वीडियोस और File को देखने के लिए करते है। इसमे आप 128 Gb तक के डाटा को आप आसानी से Store कर सकते है, यह CD और DVD के समान ही एक Technology है। इसमे disk Read करने वाले Device में से Blue Color की लेज़र निकलती है|

इसके इस्तेमाल से ही Data को Read किया जाता है तो इस तरह से डिवाइस को CD और DVD Player में नही चला सकते है इसलिए इसमे Blue Ray Disk का Use किया जाता है।


यह computer में Data डालने और उसे Secure रखने के लिए बनाया गया सबसे पहला Device है। परन्तु इसमे बहुत कम capacity में ही Data को Store किया जा सकता है। Floppy Disk में सारा Data गोलाकार चुम्बकीय प्लेट में Store होता है और यहीं से Floppy सारी जानकारी को लेकर पढ़ती और दिखाती है।

यह प्लास्टिक की छोटी सी Audio कैसेट Tap होती है जिस पर धातु की परत चढ़ी होती है और इसमे Store Data को सिर्फ Floppy Disk Drive ही दिखा और पढ़ सकता है CD आने के बाद से इसका Use बहुत कम हो गया क्योंकि इसमे CD से कम मात्रा में Data Store होता था।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: WWW Kya Hai? WWW का Full Form क्या होता है? – जानिए WWW का पूरा इतिहास हिंदी में!

Conclusion:

आप ने हमारी आज की पोस्ट Secondary Storage Devices Kya Hai In Hindi जिसमे हमने आपको Primary Storage Device In Hindi के बारे में बताया हम आशा करते है की आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी होगी और आपको आपके सारे सवालों के जवाब हमारी आज की पोस्ट में मिले होंगे।

हम उम्मीद करते है की आपको Storage Device की जानकारी अच्छी लगी होगी जिसके साथ ही आपको Types Of Storage Devices In Hindi, सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस के बारे में विस्तार से समझाइए इस पोस्ट में आपको बहुत कुछ सीखने को मिला। आप हमारी पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ और Social Media पर भी शेयर कर सकते है।

आप हमारी Hindi Sahayta की Website के Notification को ज़रुर Subscribe करे जिससे आपको हमारे आने वाले New Articles के बारे में Latest Update मिलते रहेंगे।

Comments

Popular posts from this blog

Bandhan Bank Jobs Notification 2022

Big Bazaar Jobs Notification 2021

Kotak Mahindra Bank Jobs Notification 2021